Home विज्ञान प्रयुक्ति

प्रयुक्ति

Amazon Prime Video App Saves your Entertainment Bill.

Amazon Prime Video App Saves your Home Entertainment Bill. By, Rocky- The Techie Gadgets Samvad, Samaj Vikas Samvad. As corona pandemic locked almost entire globe within home confinement...

E-PAN Card Now Available Instantly Through Aadhar Based E-KYC- Smt Nirmala Sitharaman

E-PAN Card Now Available Instantly Through Aadhar Based E-KYC- Smt Nirmala Sitharaman. in step with the announcement made within the union finance budget, union minister for finance & company affairs smt. Nirmala sitharaman officially launched the facility for fast allotment of the PAN (on near to actual-time foundation). This facility is now be provided to those pan candidates who own a valid Aadhaar number and have a mobile no which is registered with Aadhaar Card.

CIPET renamed as the imperative institute of petrochemicals engineering & technology

CIPET would possibly be in a position to definitely engage itself for the expansion of entire petrochemical Industry: dr Sadanand Gowda imperative institute of plastics engineering & technology (CIPET) has been renamed as Imperative institute of petrochemicals engineering & technology (CIPET), A most appropriate national organization governed by the Ministry of Chemicals and Fertilizers and fertilizers, government. Of India.

सावधान! अब निष्क्रिय व् अमान्य फास-टैग (FasTag) वाले वाहनों को भरना पड़ेगा दो-गुना जुर्माना!

अमान्य या गैर-कार्यात्मक फास-टैग वाले वाहनों पर उनकी श्रेणी के लिए लागू शुल्क से दोगुना टोल शुल्क लगाया जाएगा! सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने जी एस आर 298ई, दिनांक 15 मई 2020 को राष्ट्रीय राजमार्ग शुल्क (दरों का निर्धारण और संग्रह) नियम, 2008 में संशोधन के लिए अधिसूचना जारी की है।

Covid19 Currency Scanner cum sanitizing gadget developed by Indian DRDO

Indian Defense Research and Development Organization (DRDO-Hyderabad) premier lab and Research Center Imarat (RCI),The DRDO-Hyderabad  has developed an automated contact less UVC sanitation cabinet to scan and sanitize electronic gadgets  like mobile phones, i Pads, laptops, Important documents and notes like currency notes,

भारत भर के किशानो को मिलेगा लाभ! 177 नए कृषि मंडी को जोड़ा गया ई-एनएएम (E-NAM) प्लेटफॉर्म से!

किशानो को प्रत्यक्ष लाभ पहुचाने व् कृषि उत्पादनों की विपणन के लिए 177 नयी कृषि मंडी को ई-एनएएम (E-NAM) प्लेटफॉर्म से जोड़ा गया!10 राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की 177 नई मंडियां कृषि उपज के विपणन के लिए ई-एनएएम प्लेटफॉर्म से जुड़ी हैंकिसानों को लाभ पहुंचाने के लिए ईएनएएम को और मजबूत बनाने के प्रयास किए जाने चाहिए - श्री नरेंद्र सिंह तोमर

History, Significance and Importance of National Technology Day!

Indian National Technology Day gets celebrated every year on 11 th may.This National Technology Day signifies with successful test of Shakti-1 Nuclear Missile in Pokhran , Rajasthan ; way back in 1988 under able leadership of  Shri Atal Bihari Vajpaye as the Prime Minister of The country .This particular event were cornerstone of India's greatest leap towards technological advancement in the global arena.

“Ignition grant” from the US–India Science & Technology Endowment Fund (USISTEF) to counter-Covid-19 research.

To counter world wide COVID 19 pandemic the US–India Science & Technology Endowment Fund (USISTEF) has came up with “Ignition Grant” concept .Under the program US–India Science & Technology Endowment Fund (USISTEF) governing body decided to support and encourage the out-of-the-box, innovative ideas from the community to address the Covid-19 challenge.

कोविद १९ जैसे जानलेवा संक्रमण से रक्ष्या के लिए भारत की डी आर डी ओ (DRDO) ने यू वी (Ultra Violet ) कीटाणु शोधन...

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने भारी संक्रमण वाले क्षेत्रों के त्वरित औररसायन मुक्त कीटाणुशोधन के लिएएक अल्ट्रा वॉयलेट (यू वी) डिसइंफेक्सन टॉवर विकसित किया है।यूवी ब्लास्टर नाम का यह उपकरण एक यूवी आधारित क्षेत्र सैनिटाइजर है, जिसे डीआरडीओ की दिल्ली स्थितप्रतिष्ठित प्रयोगशाला लेजर साइंस एंड टेक्नोलॉजी सेंटर (एलएएसटीईसी) नेएम/एस न्यू एज इंस्ट्रुमेंट्स एंड मैटेरियल्स प्राइवेट लिमिटेड,गुरुग्राम की सहायता से डिजाइन और विकसित किया है।

कोरोना मरीजो की सही संख्या क्या है भारत में? कैसे जानेंगे सरकारी अंकरे?

कोरोना मरीजो की सही संख्या क्या है भारत में? कैसे जानेंगे सरकारी अंकरे?कोरोना संक्रमितो की सही संख्या लेकर फ़ैल रहे तरह तरह की अफवाहों के चलते केंद्रीय सरकार ने उठाये कई कदम,इसी योजनओं में आरोग्य सेतु मोबाइल एप्प से लेकर PIB एवं केंद्रीय स्वस्थ मंत्रालय ने भी शुरुआत किये कोरोना पोर्टल की!

एन आई पी ई आर – गुवाहाटी ने कोविड-19 से मुकाबले के लिए 3 डी प्रिंटेड हैंड्स-फ्री वस्तु / उपकरण का डिजाइन तैयार किया...

एन आई पी ई आर - गुवाहाटी ने कोविड-19 से मुकाबले के लिए 3 डी प्रिंटेड हैंड्स-फ्री वस्तु / उपकरण का डिजाइन तैयार किया

कोरोना वायरस को लेकर फ़ैल रहे अफवाह से बचने WHO ने जारी किया WhatsApp संपर्क नो.

कोरोना वायरस को लेकर फ़ैल रहे तरह तरह की अफवाह से बचने WHO ने जारी किया WhatsApp संपर्क नो. विश्व भर में कोरोना वायरस की महामारी के चलते ,कुछ संदिग्ध समाज विरोधी द्वारा तरह तरह की अफवाहे फैलाये जा रहे है! इस अफवाहों से बचने के लिए “वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन” अर्थात WHO ने जारी कर दिया है डायरेक्ट WhatsApp संपर्क नो- 41 798931892.

Most Read

“पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सन्मान” प्लैटफ़ार्म का उदघाटन करेंगे प्रधानमंत्री मोदी जी!

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 13 अगस्त 2020 को ‘पारदर्शी कराधान - ईमानदार का सम्मान’ के लिए प्‍लेटफॉर्म लॉन्च करेंगे ‘पारदर्शी कराधान - ईमानदार का सम्मान’ के लिए प्‍लेटफॉर्म लॉन्च करेंगे प्रधानमंत्री, श्री नरेन्‍द्र मोदी 13 अगस्त 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस अति महत्वपूर्ण योजना की शुभारंभ करेंगे । सी बी डी टी ने हाल के वर्षों में प्रत्यक्ष करों में कई प्रमुख या बड़े कर सुधार लागू किए हैं।

नव आत्मनिर्भर भारताचे नवे शैक्षणिक धोरण! एकविसाव्या शतकाला साजेशी असे नवीन शैक्षणिक धोरण

नव आत्मनिर्भर भारताचे नवे शैक्षणिक धोरण! एकविसाव्या शतकाला साजेशी असे नवीन शैक्षणिक धोरण! डॉ. स्वप्नील बी. मंत्री समाज विकास संवाद!

कोरोना रोगियों को “आश्रय मेडिकल बेड” की मिलेंगे सहारा!

कोरोना रोगियों को “आश्रय मेडिकल बेड” की मिलेंगे सहारा! DIAT ने "AASHRAY" नाम के कोविद -19 रोगियों के लिए मेडिकल बेड आइसोलेशन सिस्टम विकसित किया है वर्तमान महामारी में, कोविड ​​19 संक्रमित रोगियों की निरंतर वृद्धि के कारण, बेड की संख्या की आवश्यकता दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है।

फ़ेक सोश्ल मीडिया रैकेट से सावधान! सिंगर बादशाह ने फर्जी फॉलोअर्स बढ़ाने के लिए खर्च किए 75 लाख रुपये!

सिंगर बादशाह फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स रैकेट केस! रप्पर ने खर्च किया 75 लाख रुपये,  अपनी म्यूजिक विडियो प्रमोशन के लिए! आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को यहां बताया कि सनसनीखेज सोशल मीडिया रैकेट में अपनी जांच जारी रखते हुए, फर्जी 'अनुयायियों और पसंद' बनाने से जुड़े मुंबई पुलिस ने रैपर आदित्य सिंह सिसोदिया, उर्फ बादशाह सहित कम से कम 20 प्रमुख हस्तियों की जांच की है।