“पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सन्मान” प्लैटफ़ार्म का उदघाटन करेंगे प्रधानमंत्री मोदी जी!

0
524

“पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सन्मान” प्लैटफ़ार्म का उदघाटन करेंगे प्रधानमंत्री मोदी जी!

समाज विकास संवाद!

न्यू दिल्ली,

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 13 अगस्त 2020 को ‘पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सम्मान’ के लिए प्‍लेटफॉर्म लॉन्च करेंगे

‘पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सम्मान’ के लिए प्‍लेटफॉर्म लॉन्च करेंगे प्रधानमंत्री,

श्री नरेन्‍द्र मोदी 13 अगस्त 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस अति महत्वपूर्ण योजना की शुभारंभ करेंगे ।

सी बी डी टी ने हाल के वर्षों में प्रत्यक्ष करों में कई प्रमुख या बड़े कर सुधार लागू किए हैं।

पिछले वर्ष कॉरपोरेट टैक्स की दर को 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया गया एवं

नई विनिर्माण इकाइयों के लिए इस दर को और भी अधिक घटाकर 15 प्रतिशत कर दिया गया। 

‘लाभांश वितरण कर’ को भी हटा दिया गया।

कर सुधारों के तहत टैक्‍स की दरों में कमी करने और प्रत्यक्ष कर कानूनों के सरलीकरण पर फोकस रहा है।

आयकर विभाग के कामकाज में दक्षता और पारदर्शिता लाने के लिए सी बी डी टी द्वारा कई पहल की गई हैं।

हाल ही में शुरू की गई ‘दस्तावेज पहचान संख्या (डिन) ’  के जरिए आधिकारिक संचार में अधिक पारदर्शिता लाना भी इन पहलों में शामिल है

जिसके तहत विभाग के हर संचार या पत्र-व्यवहार पर कंप्यूटर सृजित एक अनूठी दस्तावेज पहचान संख्या

अंकित होती है। इसी तरह  करदाताओं के लिए अनुपालन को ज्‍यादा आसान करने के लिए  आयकर विभाग अब 

‘पहले से ही भरे हुए आयकर रिटर्न फॉर्म’ प्रस्‍तुत करने लगा है, ताकि व्यक्तिगत करदाताओं के लिए अनुपालन को और

भी अधिक सुविधाजनक बनाया जा सके।

 

आयकर विभाग ने प्रत्यक्ष कर ‘विवाद से विश्वास अधिनियम, 2020’ भी प्रस्‍तुत किया

स्टार्ट-अप्‍स के लिए भी अनुपालन मानदंडों को सरल बना दिया गया है।

इसी तरह स्टार्ट-अप्‍स के लिए भी अनुपालन मानदंडों को सरल बना दिया गया है।

लंबित कर विवादों का समाधान प्रदान करने के उद्देश्य से  आयकर विभाग ने प्रत्यक्ष कर 

‘विवाद से विश्वास अधिनियम, 2020’ भी प्रस्‍तुत किया है;

जिसके तहत वर्तमान में विवादों को निपटाने के लिए घोषणाएं दाखिल की जा रही हैं।

करदाताओं की शिकायतों / मुकदमों में प्रभावकारी रूप से कमी सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न अपीलीय न्यायालयों में

विभागीय अपील दाखिल करने के लिए आरंभिक मौद्रिक सीमाएं बढ़ा दी गई हैं।

डिजिटल लेन-देन और भुगतान के इलेक्ट्रॉनिक मोड या तरीकों को बढ़ावा देने के लिए भी कई उपाय किए गए हैं।

आयकर विभाग इन पहलों को आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध है।

यही नहीं, विभाग ने ‘कोविड काल’ में करदाताओं के लिए अनुपालन को आसान बनाने के लिए भी अनेक तरह के

प्रयास किए हैं जिनके तहत रिटर्न दाखिल करने के लिए वैधानिक समयसीमा बढ़ा दी गई है और करदाताओं के हाथों में

तरलता या नकदी प्रवाह बढ़ाने के लिए तेजी से रिफंड जारी किए गए हैं।

 

‘पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सम्मान’ प्‍लेटफॉर्म प्रत्यक्ष कर सुधारों को आगे ले जाएगा!

प्रधानमंत्री ‘पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सम्मान’ के लिए जो प्‍लेटफॉर्म लॉन्च करेंगे वह प्रत्यक्ष कर सुधारों की यात्रा को और भी आगे ले जाएगा।  

आयकर विभाग के अधिकारियों एवं पदाधिकारियों के अलावा विभिन्न वाणिज्य मंडलों, व्यापार संघों एवं 

चार्टर्ड एकाउंटेंट संघों के साथ-साथ जाने-माने करदाता भी इस आयोजन के साक्षी होंगे।

केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण और वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य राज्य मंत्री

श्री अनुराग सिंह ठाकुर भी इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।  

‘पारदर्शी कराधान – ईमानदार का सम्मान’, केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री, निर्मला सीतारमण,

अनुराग सिंह ठाकुर, आयकर विभाग के अधिकारि, ‘कोविड काल’, ‘विवाद से विश्वास अधिनियम, 2020’,

‘दस्तावेज पहचान संख्या (डिन) ’ , ‘लाभांश वितरण कर’, श्री नरेन्‍द्र मोदी, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से,

India Development News, Indian Development News, Indian Social News,

India social News, Developmental News, Indian society News,  

Amazing Amazon News, Samaj Vikas Samvad, New India News, Samaj Ka Vikas,

Gadget Samvad, science-technology Samvad, Global Samvad,

Amazon Prime News,

व्यापार संवाद, आयुर्वेद संवाद, गैजेट्स संवाद, समाज विकास संवाद, सी बी डी टी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here