करिव 2,000 एन सी सी कैडेट्स कोविड-19 महामारी से लड़ने कार्यरत! अन्य 50,000 कैडेट्स स्वेच्छा से सेवा कार्य के लिए है तैयार!

0
323

करिव 2000 एन सी सी कैडेट्स कोविड-19 महामारी से लड़ने कार्यरत!

अन्य 50000 कैडेट्स स्वेच्छा से सेवा कार्य के लिए है तैयार!

More than 2000 NCC cadets Engaged to fight the Covid-19 epidemic!
Another 50000 cadets volunteered to join Corona service work!

समाज विकास संवाद !

न्यू दिल्ली,

करिव 2,000 एन सी सी कैडेट्स कोविड-19 महामारी से लड़ने कार्यरत!

अन्य 50,000 कैडेट्स ने स्वेच्छा से सेवा कार्य के लिए है तैयार!

राष्ट्रीय कैडेट कोर (एन सी सी) के कैडेट्स ‘एक्सरसाइज एन सी सी योगदान’ के अंतर्गत कोविड-19 वैश्विक  महामारी के विरुद्ध

संघर्ष में 01 अप्रैल, 2020 सिविल नागरिक प्रशासन की सिविल कार्यों,

रक्षा और पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं।

12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लगभग 2,000 कैडेटों को पहले ही नियुक्त किया जा चुका है,

जहां उनमें से 306 तमिलनाडु में विभिन्न कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं। यह संख्या रोजाना बढ़ती जा रही है।

लॉकडाउन जारी रहने के साथ ही अधिक से अधिक राज्यों में विभिन्न कार्यों के लिए एनसीसी कैडेटों की मांग की जा रही है।

मुख्यालय महानिदेशालय एनसीसी इस उद्देश्य के लिए स्वयं सेवा करने वाले कैडेटों की संख्या की निगरानी कर रहा है।

अब तक लगभग 50,000 कैडेट्स ने ‘एक्सरसाइज एनसीसी योगदान’ में स्वेच्छा काम करने की इच्छा जताई है।

अठारह वर्ष से अधिक आयु के स्वयंसेवी एन सी सी कैडेट्स इन कर्तव्यों के लिए नियुक्त किए जा रहे हैं।

अठारह वर्ष से अधिक आयु के स्वयंसेवी एन सी सी कैडेट्स और सीनियर डिवीजन (लड़के कैडेट्स के लिए) और

सीनियर विंग (लडकियां कैडेट्स के लिए) से इन कर्तव्यों के लिए नियुक्त किए जा रहे हैं।

कैडेट्स स्वेच्छा से इस काम में अपना योगदान दे रहे हैं। यह सुनिश्चित किया जाता है कि

कैडेटों को प्रशिक्षित किया जाए और

तैनात होने से पहले कार्यों के बारे में सही जानकारी दी जाए।

राज्य सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि सभी कैडेटों को उनकी तैनाती के दौरान मास्क, दस्ताने आदि उचित सुरक्षा उपकरण

उपलब्ध कराए जाएं। कैडेटों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एन सी सी के अधिकारियों,

जूनियर कमीशन अधिकारियों,

पी आई स्टाफ और एएनएम की देखरेख में कैडेटों को नियुक्त किया जा रहा है।

उन्हें संबंधित राज्य सरकारों द्वारा सील कर किए गए

या हॉटस्पॉट / संवेदनशील क्षेत्र के रूप में निर्धारित किए गए उन क्षेत्रों में तैनात नहीं किया जा रहा है।

एन सी सी एक बार फिर राष्ट्र को अपना उदार समर्थन देने के लिए सामने आई है, जब वह सबसे ज्यादा मायने रखती है।

कैडेटों को विभिन्न कर्तव्यों जैसे यातायात प्रबंधन, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, खाद्य पदार्थों की तैयारी और पैकिंग करना, खाद्य एवं

आवश्यक वस्तुओं का वितरण, कतार प्रबंधन, सामाजिक दूरी, नियंत्रण केंद्रों और सी सी टीवी नियंत्रण कक्षों की चौकीदारी के लिए

तैनात किया जाता है। इसके अलावा एनसीसी कैडेट ट्विटर, इंस्टाग्राम और वाट्सएप आदि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर

मैसेज / संदेश भेजकर कोविड-19 से निपटने के  लिए जनता को जागरूक कर रहे हैं।

एन सी सी एक बार फिर राष्ट्र को अपना उदार समर्थन देने के लिए सामने आई है, जब वह सबसे ज्यादा मायने रखती है।

आज एनसीसी के लगभग 14 लाख शक्तिशाली कैडेट हैं और पूरे देश में इसकी पहुंच है,

इसके 17 निदेशालयों में सभी 29 राज्यों और

नौ केंद्र शासित प्रदेशों को शामिल किया गया है। इन निदेशालयों को आगे 99 समूहों और 826 इकाइयों में बांटा गया है,

इस प्रकार सभी राज्यों में जिला प्रशासनों को कैडेटों की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

चूंकि एनसीसी निदेशालय द्वारा जारी दिशा-निर्देश विभिन्न जिला मुख्यालयों तक पहुंच चुके हैं, इसलिए कैडेट्स को रसद और

आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन कर्तव्यों के लिए उपयोग करने के लिए,

जिला प्रशासन एनसीसी निदेशालयों से मांग करके उनका सहयोग मांग रहा है ।

#समाज_विकास_संवाद  #समाज_का_विकास ,आज का समाचार, आज के समाचार, समाचार,

आज तक ताजा खबर, आज की ताजा खबर,

राष्ट्रीय कैडेट कोर (एन सी सी) , ‘ एन सी सी योगदान’ , कोविड-19 वैश्विक महामारी,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here