महानगरीय क्षेत्रों में ट्रैफ़िक समस्या का उत्तर खोजें- लोकसभा में सांसद गोपाल शेट्टी की आह्वान!

0
81

महानगरीय क्षेत्रों में ट्रैफ़िक समस्या का उत्तर खोजें- लोकसभा में सांसद गोपाल शेट्टी की आह्वान!

Find answers to the traffic problem in metropolitan areas – Lok Sabha MP Gopal Shetty calls!

समाज विकास संवाद!

मुंबई,

मुंबई, उपनगरों और मुंबई आसपास के इलाकों में बढ़ते यातायात का मुद्दा दिन-प्रतिदिन उग्र होता जा रहा है।

इस विषय पर, उत्तर मुंबई के सांसद गोपाल शेट्टी ने संसद में,

महानगरीय क्षेत्रों में बढती ट्रैफ़िक समस्या का मुद्दा प्रस्तुत किया।

महानगरीय क्षेत्रों में ट्रैफ़िक समस्या का उत्तर खोजें- लोकसभा में सांसद गोपाल शेट्टी की आह्वान!

लोकसभा सदन में इस मुद्दे को रखते हुए, शेट्टी ने कहा,

“अगर भविष्य में महानगरीय क्षेत्रों में युद्ध लड़ा जाता है,  तो यह बढ़ते ट्रैफ़िक समस्या के कारण होगा।

यदी आप डीपी प्लान को देखें तो, डीपी योजना में दिखाए गए रोड मैप और वास्तव में बनाई गई सड़क इन दोनों में बदलाव नजर आता है।

क्योंकि वास्तव में जब सड़क का निर्माण होता है तब वह डीपी में दिखाई गई सड़क की लंबाई और चौढाई से कम होती है ।

२०२२ में हमारा देश आजादी के ७५ साल मना रहा है!

अगले दो वर्षों में, यानी वर्ष २०२२ में हमारा देश आजादी के ७५ साल मना रहा है।

उस समय महानगर के नगर निगम प्रशासन और नगर पालिका आयुक्त यातायात की इन बढ़ती समस्याओं के बारे में सचेत होंगे|“

यह अनुमान शेट्टी ने व्यक्त किया| उन्होंने आगे कहा ,

“और वे बढ़ते ट्रैफ़िक समस्या पर जवाब खोजने के लिए सड़क की लंबाई और चौढाई बढ़ाने की कोशिश करेंगे।

मुंबई, महाराष्ट्र की राजधानी है और देश की वित्तीय राजधानी के रूप में जानी जाती है।

मैं आज लोकसभा के माध्यम से देश के प्रधान मंत्री मान. नरेंद्र मोदी को,

अनुरोध करता हूँ कि, मुंबई देश के आकर्षण का केंद्र है, तथा मासिक आय का वित्तीय स्रोत मुंबई में ज्यादा मात्रा में हैं।

इसलिए वे ट्रैफिक की समस्या पर जवाब खोजें। ” शेट्टी ने निवेदन के पहले लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को बधाई दि|

बिरला ने लोकसभा जीरो प्रहर में पेश किए सवाल का जवाब एक महीने के भीतर दिया जाए यह महत्वपूर्ण निर्णय लिया था|

देश में मुंबई शहर, उपनगर और टायर सिटी में रोजगार के बेहतरीं अवसर,

मुंबई की वित्तीय राजधानी के रूप में पहचान!

मुंबई की वित्तीय राजधानी के रूप में पहचान,

और अन्य बुनियादी सुविधाएं आदी के कारण यहा रहने वाले लोगों का रुझान बढ़ा रही हैं।

इस महानगरीय क्षेत्र की आबादी सव्वा करोड़ों के आसपास है।

दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले शहरों में से एक मुंबई शहर है।

साथ ही नवी मुंबई और ठाणे शहर, जिसे महानगर के रूप में जाना जाता है,

इन दोनों महानगरों कि आबादी लगभग डेढ़ करोडों के आसपास है।

परिणामस्वरूप, सार्वजनिक प्रशासन, सार्वजनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर, परिवहन साधन, निजी वाहन आदि का बोझ बढ रहा है।

सार्वजनिक परिवहन उपकरण या निजी परिवहन का उपयोग, कार्यालय या कार्यस्थल पर पहूंचने के लिए किया जाता है|

ट्रैफिक जाम से छुटकारा पाने के लिए आम आदमी स्कुटर या मोटार बाईक,

या आरामदायक सफर के लिए फोर व्हीलर वाहनों का उपयोग करता आ रहा है।

इसके अलावा, उचित स्थान तक पहुंचने के लिए उपयोग किए जाने वाले वाहनों में निजी वाहनों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ रहीं है।

#समाज_विकास_संवाद, #समाज_का_विकास, आज_तक_ताजा_खबर, आज_की_ताजा_खबर,

Amazing Amazon News, Samaj Vikas Samvad, New India News, Samaj Ka Vikas,

Gadget Samvad, science-technology Samvad, Global Samvad,

Amazon Prime News,

व्यापार संवाद, आयुर्वेद संवाद, गैजेट्स संवाद, समाज विकास संवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here