मुंबई मेट्रो से विकास की गति तेज़-35 फीसदी निजी यातायात में होगी कमी : देवेंद्र फडऩवीस

0
160

मुंबई मेट्रो से विकास की गति तेज़-35 फीसदी निजी यातायात में होगी कमी : देवेंद्र फडऩवीस

Mumbai Metro to speed up its development – 35% private traffic will decrease: Devendra Fadnavis

समाज विकास संवाद!

मुंबई।

एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक के वार्षिक सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री

देवेंद्र फडऩवीस ने कहा कि राज्य में शाश्वत विकास के लिए बुनियादी सुविधाओं के काम

बड़े पैमाने पर शुरू  किए गए है। मुंबई के साथ राज्य में मेट्रो का जाल बढऩे से

निजी यातायात 35 फीसदी कमी होगी।

एशियन डेवलपमेंट बैंक के पूर्व कार्यकारी संचालक पॉल स्पेझ, विश्व बैंक के पूर्व मुख्य अर्थ विशेषज्ञ

निकोलस स्ट्रेन भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने कहा कि शाश्वत विकास को

केंद्र विन्दु  मानकर महाराष्ट्र सरकार बुनियादी सुविधाओं का निर्माण कर रही है।

राज्य का विकास दर 15 प्रतिशत तक ले जाने के लिए राज्य सरकार ने यह कदम उठाएं हैं।

मुंबई मेट्रो से विकास की गति तेज़-35 फीसदी निजी यातायात में होगी कमी

 

सार्वजनिक यातायात व्यवस्था बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा

इसके लिए बड़े पैमाने पर निवेश होना आवश्यक है। राज्य में बढ़ता नागरिकरण को

ध्यान में रखकर सार्वजनिक यातायात व्यवस्था बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है।

साथ ही महामार्गों की निर्मिती करते समय वन्यजीवों को हानि न हो, इसकी दक्षता ली जा रही है।

जलसंवर्धन के लिए बड़े बांधों के बजाए छोटे-छोटे जलसंधारण के कामों पर ध्यान दिया जा रहा है।

साथ ही सौरऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा दिया जा रहा है। राज्य में विकास के कार्य

विशेष रूप से बुनियादी सुविधाओं के कार्यान्वयन पर मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री वॉर रुम

के माध्यम से हमेशा ध्यान दिया जा रहा है, इससे मेट्रो के काम समय से पहले शुरू  हुए हैं।

राज्य की आर्थिक स्थिति आगामी 2025 तक एक ट्रिलियन करने के लिए

राज्य सरकार ने पहल की है।

मुंबई मेट्रो से विकास की गति तेज़-35 फीसदी निजी यातायात में होगी कमी

 

नागपुर-मुंबई समृद्धि महामार्ग देश का सबसे बड़ा महामार्ग

मुंबई, नागपुर, और पुणे शहरों में मेट्रो का निर्माण, नागपुर-मुंबई समृद्धि महामार्ग,

नवी मुंबई हवाइअड्डा आदि प्रकल्प शुरू  किए है। राज्य में मेट्रो के जाल से

निजी यातायात बड़े पैमाने पर कम होकर प्रदुषण भी कम होने में मदद होगी।

साथ ही इलेक्ट्रिक बस शुरू  की जा रही है। फडणवीस ने कहा कि

नागपुर-मुंबई समृद्धि महामार्ग देश का सबसे बड़ा महामार्ग होगा।

इस महामार्ग से नागपुर शहर जवाहरलाल नेहरू  पोर्ट ट्रस्ट से जोड़ा जाएगा।

साथ ही इस मार्ग पर 24 स्मार्ट सिटी का निर्माण होगा। इस महामार्ग से कृषि क्षेत्र को

बड़े पैमाने पर फायदा होगा और विकास दर बढऩे में मदद होगी।

इस महामार्ग के लिए भूसंपादन जमीनधारकों की अनुमति से किए जाने से

रिकार्ड समय में पूरा हुआ है।

मुंबई मेट्रो से विकास की गति तेज़-35 फीसदी निजी यातायात में होगी कमी

 

महामार्ग के लिए निधि मिलने के लिए एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक के साथ चर्चा

93 फीसदी जमीन इस प्रकल्प के लिए सरकार को मिल चुकी है। भूसंपादन के इस

अनोखी पद्धति को नीती आयोग ने भी सराहा है। इस महामार्ग के लिए निधि मिलने के लिए

एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक के साथ चर्चा शुरू है। कृषि विकास दर बढ़ाने के लिए

इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर निवेश किया जा रहा है।

कृषि क्षेत्र के लिए हरित ऊर्जा पर जोर दिया जा रहा है, कृषि पंपों के लिए

सौरऊर्जा का उपयोग बढ़ाया जा रहा है। साथ ही महत्वकांक्षी जलयुक्त शिवार प्रकल्प से

राज्य में विगत दो वर्षों में 11 हजार गांव पानी की किल्लत से मुक्त किए गए हैं।

2019 तक 22 हजार गांवों को पानी की किल्लत से मुक्त किया जाएगा।

मुंबई_मेट्रो, विकास_की_गति_तेज़, देवेंद्र_फडऩवीस, #महाराष्ट्र, #गोवा, #मुंबई,

Bharat Ki Vikas, Bharat Vikas Samvad, Social Development News, Social News,

Society News, News Of Development, Development News,

India Development News, Indian Development News,

Indian Social News, Gadget Samvad, science-technology Samvad, Global Samvad,

Amazon Prime News,

व्यापार संवाद, आयुर्वेद संवाद, गैजेट्स संवाद, समाज विकास संवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here