कॉलेजों में होंगी परीक्षाएं! कब और कैसे जानकारी दी केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने!

0
372

कॉलेजों में होंगी परीक्षाएं! कब और कैसे जानकारी दी केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने!

UGC ने कॉलेज परीक्षाओं को लेकर तैआर किया योजना!

Exams will be held in colleges! When and how information was given by Union Education Minister Dr. Ramesh Pokhriyal Nishank!
UGC plans to prepare for college exams!
समाज विकास संवाद!

न्यू दिल्ली ,

कॉलेजों में होंगी परीक्षाएं! कब और कैसे जानकारी दी केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने!

UGC ने कॉलेज परीक्षाओं को लेकर तैआर किया योजना!

COVID19 की महामारी के चलते सर्वाधिक परेशानी उठाना परा देश के सारे शिक्षा जगत को !

केंद्रीय सरकार की मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इसी समस्या को गंभीर रूप से लेते हुए ;

परिस्थिति की सुधार के लिए पिछले दिनों बिभिन्न सकारात्मक कदम उठाये!

इसी निर्णय प्रक्रिया के अंतर्गत केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक

(Central HRD Minister Dr Ramesh Pokhariyal Nishank) ने NAAC द्वारा आयोजित वेबिनार के माध्यम से

भारत भर के  45 हजार डिग्री कॉलेजों को सम्बोधित किया!

इस चर्चा में डॉ निशंक ने जेईई, नीट से लेकर इ विद्या (E-Vidya) डिजिटल ऑनलाइन शिक्षा व् बिभिन्न प्रकार के

शैक्षणिक शोध कार्य पर विस्तार से चर्चा किये!

कोविड-19 (COVID19)  की मार झेलने वाली सम्पूर्ण विश्व के मुकावले भारत जैसे विकाशशील देश ने

शिक्षा क्षेत्र में जो कर रहा है वो कविले तारीफ़ है ! डॉ निशंक ने इस सकारात्मक शिक्षानिक विकास की श्रेय

शिक्षा क्षेत्र में जुड़े हुए देश भर के शिक्षक को दिया !

आनेवाले समय पर शिक्षा व् परीक्षा को लेकर डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक कुछ महत्वपूर्ण दिशा निर्देश

इन वेबिनर के माध्यम से किया, जिसकी सारांश कुछ इस प्रकार है :-

ई-पाठशाला, दीक्षा पोर्टल जैसे ऑनलाइन के माध्यम से शिक्षा!

ई-पाठशाला, दीक्षा पोर्टल जैसे कई ई-विद्या प्लेटफॉर्म्स के माध्यम से कोरोना महामारी के चलते घर बंदी बच्चो के सामने

हमने एक नया दिगंत खोल दिया! किसीने नहीं शोचा था की इतनी जल्द ही मोदी जी के नेतृत्व में हम एक

सुचारू डिजिटल शिक्षा माध्यम का विकास कर पाएंगे!

परन्तु शिक्षा क्षेत्र में जुड़े हुए हम सभी की एकात्मिक प्रयास से ये संभव हो सका! आज ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के माध्यम से

देश के अधिकतर बच्चे घर बैठे भी शिक्षा प्राप्त करने में सक्षम हो रहे है!

इसके आलावा देश के प्रत्यंत गाँव में रहने वाले वो सभी बच्चो के लिए ; जिनके पास ना तो मोबाइल है और

ना ही कोई इन्टरनेट , ऐसे अन्तोदय अंतर्भुक्त परिवार के बच्चो के लिए हमने टीवी पर स्वम्प्रभा चैनल शुरू किया ,

इसीके साथ साथ आल इंडिया रेडियो (AIR) के माध्यम से भी लगातार शैक्षणिक कार्यक्रमों का प्रसारण हो रहा है!

इतनी बड़ी उपक्रम का लाभ हमे भविष्य में देखने को मिलेगा !

बच्चों के लिए मनोदर्पण

घर में बंद बच्चों का मनोबल बनाए रखने के लिए हम जल्द ही मनोदर्पण जैसे कार्यक्रम को लेकर आ रहे हैं।

जल्द ही हम मनोदर्पण कार्यक्रम इसका उद्घाटन करेंगे । देश के प्रत्येक यूनिवर्सिटी में इसके लिए भी एक अलग हेल्पलाइन बनेगी।

मनोदर्पण कार्यक्रम के मदद से जरुरत मंद छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाएगा।

हमने यूजीसी (UGC) पर जिम्मेदारी दी है कि देश के किन 100 विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा दिया जाये!

आनेवाले चाँद दिनों के भीतर UGC आपनी शुची हमे सौंपेगी ऐसी अपेक्षा है!

कॉलेजों में रिक्त पद की नियुक्ति

अब तक केंद्र और राज्यों में जो कुछ पद नियुक्ति के लिए खली है उसे हम जल्द से जल्द भरने के लिए प्रयत्नशील है!

अब तक मंत्रालय द्वारा हजारों भर्तियां किया जा चूका हैं। हमने केंद्र के 12 हजार से भी ज्यादा और

राज्यों की करीब 30 हजार रिक्त पदों पर भर्ती के लिए बिभिन्न माध्यम में विज्ञापन जारी कर चुके हैं।

आशा है की जल्द से जल्द भारती की प्रक्रिया पूरा होगा !

यूजीसी में भी एन सी ई आर टी (NCERT) की तरह ही टास्क फोर्स का गठन किया गया !

देश के बिभिन्न कॉलेजों में परीक्षा के सन्दर्भ!

यूजीसी में भी एन सी ई आर टी (NCERT) की तरह ही टास्क फोर्स का गठन किया गया !

जिसका उद्देश्य है आगे के लिए उच्च शिक्षा क्षेत्र का रोडमैप तैयार करना । कोरोना महामारी की हालत यदि सामान्य हुए तो फिर हम

जुलाई में परीक्षाएं आयोजन करने के लिए प्रयत्नशील होंगे । ये परिक्षाए किस तरह से संगठित किया जायेगा उसके बारे में

गठित टास्क फोर्स अध्ययन कर रहा है , जल्द से जल्द ये टास्क फ़ोर्स आपनी रिपोर्ट पेश करेगी!

हमारी प्राथमिकता छात्रों की सुरक्षा ही है। जहाँ कही भी कोई भी क्षेत्रों में यदि उस समय तक भी कोविद १९ (COVID19) की स्थिति

सामान्य नहीं हुआ तो फिर उस सभी क्षेत्रो में रहने वाले छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर ही पदोन्नति दी जाएगी ।

फाइनल परीक्षा होगी। परन्तु कब होगी, इसका निर्णय कोविद १९ (COVID19) के हालात के अनुसार लिया जाएगा।

“नेशनल टेस्ट अभ्यास ऐप” को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

नीट (NEET) और जे (JEE) मेन की तिथिया

नीट (NEET)  और जे ई ई (JEE)  मेन व एडवांस्ड की तिथियां घोषित किया जा चूका हैं।

परन्तु तैयारी के लिए छात्र बाहर नहीं जा पा रहे है । इस परिस्थिति में छात्रों को तैयारी की मदद के लिए एन टी ए (NTA) ने

“नेशनल टेस्ट अभ्यास ऐप” लॉन्च कर दिया है। इस “नेशनल टेस्ट अभ्यास ऐप” को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

करिव 4.60 लाख नीट (NEET)  और जे ई ई (JEE)  मेन व एडवांस्ड की स्टूडेंट्स ने इस ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं !

इन मे  से ज्यादातर छात्रों ने मॉक टेस्ट भी दे चुके हैं।

स्टडी इन इंडिया (Study In India) के तहत 40 हजार से ज्यादा आवेदन

अन्य महत्वपूर्ण बातें

पिछले दिनों स्टडी इन इंडिया (Study In India) के तहत 40 हजार से ज्यादा आवेदन आ चुके हैं।

हमारी आतंरिक प्रयास है की हम भारत में विदेश से बच्चो को परने के लिए आकर्षित कर सके !

हम इस दिशा में जोर कदम से काम कर रहे हैं , साथ साथ हम हमारे स्टूडेंट्स को बाहर पढ़ाने के लिए भी ले जाएं।

इससे शिक्षा क्षेत्र में एक बेहतरीन वैश्विक मेल बंधन संभव होगा!

अब शोध कार्य में लगे हुए छात्रों के लिए नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी उपलब्ध है जिसका लाभ जरूरतमंद छात्रों उठा सकते हैं।

इस नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी पर 4.5 करोड़ से ज्यादा सम्बंधित कंटेंट उपलब्ध है। STRIDE प्रोग्राम भी शोध में छात्रों को मदद करेगा।

हमने युक्ति पोर्टल बनाया है। जो कोई भी नगरिक् जहां भी अनुसंधान के क्षेत्र में जो भी काम कर रहे हैं उसे

युक्ति पोर्टल पर डालने का प्रावधान दिया गया है। ये प्रावधान इसलिए ताकि आपका काम करोड़ों लोगों तक पहुंचे और

आपके शोध उनके भी काम आए।

हमारी निवेदन है की सभी संस्था नैक पर जरूर रजिस्टर कराएं। आप जब अपना मूल्यांकन करेंगे तभी

अपनी कमियां दूर कर सकेंगे और आपकी खुदकी भी ताकत बढ़ा सकेंगे।

#समाज_विकास_संवाद,

Amazing Amazon News, Samaj Vikas Samvad, New India News, Samaj Ka Vikas,

Gadget Samvad, science-technology Samvad, Global Samvad,

Amazon Prime News,

व्यापार संवाद, आयुर्वेद संवाद, गैजेट्स संवाद, समाज विकास संवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here